About Us

Pankhuri is a women’s only community for members to socialize, explore and upskill through live interactive courses, expert chat, and interest-based clubs. Our short video app opens up endless possibilities for women with interests like fashion, beauty, grooming and lifestyle.

We are dedicated to all things beauty, inside and out. From hair and makeup to health and wellness, Pankhuri takes a fresh, no-nonsense approach to help you feel and look your absolute best. We help women find confidence, community and joy through beauty. It is a safe and empowering space that aims to help them lead their best lives. We’re driven by a commitment to improving women’s lives by covering daily breakthroughs in beauty and health, with a focus on story-telling and original reporting.

We are an ambitious, creative and committed community, backed by some of the best investors in the country. We are female-founded and led, and believe passionately in creating an inclusive and welcoming ecosystem for everyone.

खुद को डी-स्ट्रेस करने के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

स्ट्रेस..स्ट्रेस..स्ट्रेस…कैसे इसे अवॉइड करें? ये तो आपकी लाइफ का पार्ट है। इससे दूर कैसे भागा जाए? लेकिन डियर फ्रेंड्स आप डी-स्ट्रेस होने का काम तो कर सकते हैं। कैसे? हम बताते हैं। इस ब्लॉग में जानिए ऐसे तरीके जिसमें आप घर बैठे खुद को डी-स्ट्रेस कर पाएंगे। तो चलिए शुरू करते हैं:

W0hyRqL8s VL2PWzfO9GdfdOZW JyQltr5fA abwcs bgx0VNDtTPlR5jNUC0NgvRsFkNBcfvZq5lHWrLkj

एक्सरसाइज़

साइंटिफिकली प्रूवन है कि वर्कआउट करने से बॉडी में हैप्पीनेस हार्मोन रिलीज़ होते हैं। ये स्ट्रेस और वरी को कम करने में हेल्प करते हैं।  बॉडी में एंडोर्फि़न हॉर्मोन रिलीज होता है, जो हमारे मूड को बेहतर बनाने का काम करता है। रेग्यूलरली एक्सरसाइज़ करने से नींद पैर्टन में भी सुधार होता है। योग या मेडिटेशन शुरू करें।इससे मन को शांत करने और ब्रीदिंग पर कंट्रोल पाने में हेल्प मिलेगी। यह एंटी-डिप्रेसेंट की तरह काम करता है और स्ट्रेस के लिए अच्छा ट्रीटमेंट है।

6l4G89lEyhIO1 6MAeXeU4LmQbEsQf0yp1cPFp3dP7iWTkKBrF7OGvzqh872ahQaDahDTA3YEaxpAN7kkGEf2YKv DW5d2lq 8EZHNUrBQ1sNFkEXLS 4 O3ZdKtkiP6hqd7zDLa4KWnGlu5evRjG9csOXrOayzI8FqkPQ6SUjr8 sRNqQSgULtDDy7A

जर्नलिंग

जब आप स्ट्रेस फील करते हैं, तो ऐसे टाइम में जर्नलिंग ट्राई करना चाहिए। जिन थॉट्स, एक्सपीरियेंस और इमोशन्स को आप दूसरों से शेयर नहीं कर पाते हैं, उसे आप रिकॉर्ड कर सकते हैं और आप इससे लाइट फील करेंगे। चाहे डेली डायरी लिखना हो या फिर टू-डू लिस्ट बनाना हो, जर्नलिंग से ऑर्गेनाइज़ेशन प्रॉपर होता है, जो स्ट्रेस और वरी को कम करता है। 

HXN3qdi1iuCNzviIkUXikSb1ot1g3Eoe4t jnM31iODzhf65jVvA6T16pbLO9aLkpSb9YNTqW3stQ5e33xBqiO ZqCWvzcohAowp0NmoiMLk jFPvea0h n7vOlvseC5ZrYyz f1VwtfNBTHuxofiK7c9uPminJ063ZTWfJ

हॉबी 

हर किसी के पास एक हॉबी तो होनी ही चाहिए। उसमें पूरी तरह से डूब जाना स्ट्रेस कम करने का शानदार तरीका है। आप कोई भी एक्टिविटी चूज़ कर लें, जिसे आप हमेशा से करना पसंद करते हैं। ये साइक्लिंग, डांस, स्विमिंग, पेंटिंग या कुछ भी हो सकता है,  जिससे आप हैप्पी फील करते हों। खुद को बिज़ी रखने के लिए इसकी प्रैक्टिस करें।

कुकिंग

कुकिंग पूरी तरह से हेल्दी वे है डी-स्ट्रेस होने का। इसके लिए बहुत सारी प्लानिंग, कॉन्स्नट्रेशन और दिमागी रूप से तैयार रहने की ज़रूरत होती है। इंग्रीडिएंट्स चूज़ करने से लेकर पेस्ट बनाने, कुक करने और टेस्टी बनाना आपके लिए हीलिंग का काम करता है।

qQmmZXGniATo9JOvJAULT2yvgyiDNzbGQkNf1q 5u5B2FYN4zZce BCBCgcf 6pdDAy5GC8CaWgCa3G1Fh2QrVTT1loYTT0ijMABU3S4 GdYWXgmGKHRyv YkXSh6z69xffA1I5erEGeiQEI2GciVXwWXZVLBIxA aGKXkPLPs htsw IrN7cBJFSKLi2Q

नो कैफीन, नो निकोटिन

कैफीन और निकोटिन अगर आपके डाइट में शामिल हैं, तो इसे जल्दी ही रिमूव कर दें। कैफीन कोर्टिसोल हॉर्मोन को बढ़ाता है और लंबे समय तक कोर्टिसोल का लेवल बने रहना स्ट्रेस का कारण बनता है। वहीं निकोटीन सांस लेने में परेशानी और ब्लड सर्कुलेशन में दिक्कत देकर बॉडी पर ज़्यादा स्ट्रेस डालता है।

तो फ्रेंड्स, खुद को डी-स्ट्रेस करने के लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना होगा। ये टिप्स आपके लिए काम के साबित होंगे।

About Author

Sonal Sharma

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *