About Us

Pankhuri is a women’s only community for members to socialize, explore and upskill through live interactive courses, expert chat, and interest-based clubs. Our short video app opens up endless possibilities for women with interests like fashion, beauty, grooming and lifestyle.

We are dedicated to all things beauty, inside and out. From hair and makeup to health and wellness, Pankhuri takes a fresh, no-nonsense approach to help you feel and look your absolute best. We help women find confidence, community and joy through beauty. It is a safe and empowering space that aims to help them lead their best lives. We’re driven by a commitment to improving women’s lives by covering daily breakthroughs in beauty and health, with a focus on story-telling and original reporting.

We are an ambitious, creative and committed community, backed by some of the best investors in the country. We are female-founded and led, and believe passionately in creating an inclusive and welcoming ecosystem for everyone.

इमोशनल डिक्लटरिंग के लिए ज़रूरी है ये 5 टिप्स

“जब भी आपका मन बदलता है, आपकी दुनिया बदल जाती है।” -बायरन केटी

इमोशनल डिक्लटरिंग…क्या मतलब है इसका? हर दिन ढेर सारे इमोशन के साथ डील करते हुए, हम भूल जाते हैं कि उन फीलिंग्स से हमें छुटकारा पाना चाहिए जो कि परेशान कर रहे हैं। मैं जानती हूँ कि आप सोच रहे हैं कि उसके लिए हमारे पास टाइम नहीं है। यह अपने आप निकल जाएगी। हालांकि आप ज्यादा गलत नहीं हो सकते!

मैं समझती हूं कि हम सबकी बिज़ी लाइफ़ है और हमारे पास टाइम की हमेशा कमी होती है, लेकिन अपनी दबी हुई फीलिंग्स से एंग्ज़ाइटी और डिप्रेशन हो सकता है। कोई भी अपनी लाइफ़ में यह सिचुएशन नहीं चाहता है। अपनी सोच को सही करने से आपको अच्छा महसूस होगा और एक नई शुरुआत होगी।

तो हमारी लाइफ़ को आसान बनाने के लिए, यहाँ 5 टिप्स और टेक्निक्स दी गई हैं जो आपको इमोशनल डिक्लटर करने में हेल्प करेंगी।

oqi PEpN9tSjCIsiHHM7m5kumaoAxbrBS6MSnneAeih9zdV6DN2fD7lEEHVOSnywerfHss8ZCq03KXJ

1. आप अपनी मौजूदा लाइफ़ कैसी चाहती हैं?

नेगेटिव इमोशन से बाहर निकलने का सबसे आसान तरीका है दिन में सपने देखना यानी डैड्रीमिंग। यह आपको जोक लग रहा होगा लेकिन एक बार इसका मतलब समझ जाएंगी, तो यह स्टूपिड जैसा कुछ नहीं लगेगा! कहते है ना कि खुली आँकों से देखे सपने सच होते हैं। इसलिए एक विजन क्रिएट करें कि आप अभी अपनी लाइफ़ को कैसा देखना चाहती हैं क्योंकि एक बार आपने उस रास्ते के बारे में सोचना शुरू कर दिया, तो आपका ब्रेन रेजूवेनेट होना शुरू करता है और आपको उन चीज़ों के बारे में सोचने के लिए मोटिवेशन देता है जो आपको वहां ले जाएंगे।

L BIZVIRB37XqRA9yYyQzSjvo13gQ5hKp6PNBXLklC3F7HBeZuMyIv8KK5w8kQMjLvRiIbR83GTZ ZBwTo4vHczjLmgLbPhB6L3jLciOoj57yYBNgBugPqLgKtTU3oIIHiBSkVLcPE5FEtveyQ

2. आपको क्या रोक रहा है?

जब आप अपने बारे में हर चीज़ पर डाउट करने लगते हैं, तो यह सवाल आप खुद से पूछते हैं! कुछ समय निकालना और अपने थॉट्स में गहराई से जाना ज़रूरी है कि आप कहां स्टक हो गए हैं और उन सभी चीजों की लिस्ट बनाएं जिनके बारे में आपने सोचा है। अब तक, चाहे वह आपकी प्रॉब्लम का सॉल्यूशन तलाशने का डर हो या न हो, उस चेकलिस्ट से कंसल्ट करके, आपको पता चल जाएगा कि इससे कैसे डील करना है। बड़ी प्रॉब्लम्स के साथ शुरुआत करने से आप उस झंझट से बाहर निकल जाएंगे।

UQMap5xNiMezBnkm1M wWe9BjEz7LQ4un7AwjC0n5JHZefirtnT X5mBvIL VWC7pfVKP77h44 hm1EY62t3jxIG1v8JOIjhMk0Y5S5XcUOWmyALDwEJTtRS3CUDDG91V2ABnLPml

3. हेल्प लेने से हिचकिचाए नहीं

“हमारी लाइफ़ उस दिन से खत्म होना हो जाती हैं, जिस दिन हम ज़रूरी चीजों को लेकर चुप्पी रखते हैं।” – मार्टिन लूथर किंग जूनियर

यह कही गई बात बिलकुल सही है। सबसे अच्छे गिफ्ट्स में से एक जो आप खुद को दे सकते हैं, वह है खुद को न छोड़ना। यदि आपको लगता है कि आप इसे अकेले नहीं कर सकते हैं, तो अपनी पेरेंट्स, फ्रेंड्स या साइकोलॉजिस्ट से हेल्प ज़रूर लें। आपको खुद को थोड़ा और पुश करने की ज़रूरत है क्योंकि आपने आधा सफ़र तो तय कर लिया है।

vUmhPXybwpUXGZ LJD5JQRltnASRQognVXIowfALVwM44EPYi7jAAqFIhI2EmdbCotEPIPRFvKZ6XB5JV8jR7bfXKCHi7c600k5KusOqF4W1BN8JGc3S6M1lmcu8n8F LJnJFu6GmXrffMM4cA

4. फ्लैशबैक में जाएं

इस पर अभी से काम करना शुरू करें, जब आपको एहसास हो गया है कि आप इन फीलिंग्स से छुटकारा पाना चाहते हैं और आप जानते हैं कि आपको क्या रोक रहा है। अगर आप अपने एक्स से उबर नहीं पा रही हैं, तो अपने लिए एक कप कॉफी या चाय बनाएं और रिफलेक्ट करें कि उन्होंने आपको कैसा फील कराया। अपने फीलिंग्स से परेशान होकर अल्कोहल को न अपनाएँ, क्योंकि यह आपको अंदर से और भी बुरा महसूस कराएगा। तो आप या तो किसी को बताएं या पेपर लें और अपने इमोशन इसमें लिख डालें।

OhJTQtQpvpXKEDDVOLi

5. इंस्पाइरिंग स्टोरी

अब एक नया चैप्टर शुरू करने का टाइम आ गया है क्योंकि अब आपको समझ आ गया है कि इमोशन को कैसे डील करना है। एक इंस्पायरिंग स्टोरी लिखें कि आप कैसे जानते हैं कि आपकी लाइफ़ कैसी होगी। यदि आप अभी ऐसा नहीं कर सकते हैं, तो उस पर्सन के बारे में पढ़कर या जानकर अपने खुद में इंस्पिरेशन ले जिसे आप हमेशा फॉलो करना चाहते थे। क्योंकि कोई और आपको बाहर निकालने की कितनी भी कोशिश कर ले, केवल आप में ही यह जानने की स्ट्रेंथ होनी चाहिए कि ‘आप इसे पूरी तरह से कर सकते हैं!’

UZWXgTKKy yuILxZ5zUyvl3WylujVGChFhz89BX1byxRici4N1q24qRT81uf8sSud1OjLFrKV52RkhwNeg5p izJKx5Y1RUcVr72ZF9aMisGFkOOLyBfLwd

तो फ्रेंड्स! इमोशनल ब्लॉक्स को हटाने के लिए 5 टिप्स और टेक्निक्स काम आएंगी। हमें बताएं कि ये सजेशन आपके लिए काम करते हैं। इन सबमें टाइम लगेगा लेकिन आप इन बातो को फॉलों करेंगी तो आप इमोशनली डिक्लटर कर पाएंगी। बस एक पैशन यह हो कि मुझे इस फीलिंग्स से निकलना है, आगे बढ़ना है और इमोशन्स को खुद पर हावी नहीं होने देना है। फिर देखिए एक नई दुनिया आपके सामने होगी!

About Author

Sonal Sharma

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *